Petrol Price Hike: Rahul Gandhi ने Petrol दामों को लेकर केंद्र सरकार पर किया हमला

काँग्रेस पार्टी के नेता और पूर्व अध्यक्ष, Rahul Gandhi ने Petrol के बढ़ते दामों को लेकर केंद्र सरकार पर तीखा तंज कसा है. उन्होंने कहा की Petrol के दाम दिन प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं. ऐसे में, उन्होंने केंद्र सरकार से पूछा की क्या वह बॉलीवुड फिल्मों में दिखाए जाने वाले लालची साहूकार हैं?

Rahul Gandhi ने हिंदी में ट्वीट करते हुए कहा, कि “एक तरफ हम जनता को कर्ज लेने के लिए उकसा रहे हैं, दूसरी तरफ टैक्स वसूली से अंधाधुंध कमाई कर रहे हैं. यह सरकार है या पुरानी हिंदी फिल्मों की लालची साहूकार?” उन्होंने #TaxExtortion का भी इस्तेमाल किया है. 

केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2020-21 के दौरान पेट्रोलियम डीजल और प्राकृतिक गैस पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क के माध्यम से 3.36 लाख करोड़ रुपये कमाए हैं. आपको बता दें, कि वित्त वर्ष 2020 में पेट्रोलियम उत्पादों पर  शुल्क के माध्यम से 2.03 लाख करोड़ रुपये कमाई हुई थी. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि उन्होंने अपने ट्वीट में एक समाचार रिपोर्ट को टैग किया है.  जिसमें यह दावा किया गया था, कि सरकार ने पेट्रोलियम उत्पादों पर शुल्क में 88% की वृद्धि की है. जिसके परिणामस्वरूप सरकार के खजाने में 3.35 लाख करोड़ रुपए की कमाई की है.

केंद्र सरकार की तरफ से पिछले साल Petrol पर उत्पाद शुल्क, 19.98 रुपए प्रति लीटर से बढ़ाकर 32.9 रुपए कर दिया गया था. Covid-19 महामारी के कारण Petrol और डीजल की मांग में कमी आयी थी. सरकार ने डीजल पर उत्पाद शुल्क 15.83 रुपए प्रति लीटर से बढ़ाकर ₹31.8 रुपए प्रति लीटर कर दिया था. 

Rahul Gandhi ने कहा, कि  Petrol और डीजल पर उत्पाद शुल्क के रूप में 94.18 करोड़ रुपए कमाए गए हैं. केंद्र सरकार द्वारा एकत्र किए गए सकल राजस्व में 2017-18 से 2020-21 तक पेट्रोलियम उत्पादों पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क का औसत हिस्सा 12% था. 

1 अप्रैल से 13 जुलाई के बीच जहां Petrol की कीमतों में 39 गुना बढ़ोतरी हुई है, वहीं डीजल की कीमतों में 36 गुना बढ़ोतरी हुई है. नई दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, जम्मू और कश्मीर, ओडिशा, तमिलनाडु, केरल, बिहार, पंजाब और लद्दाख,सहित कई राज्यों में Petrol और डीजल की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर का आंकड़ा पार कर चुकी हैं. जिसका विपक्षी दलों ने विरोध किया है. 

यह भी पढ़ें: Govindas Konthoujam: सौंपा इस्तीफा, काँग्रेस पार्टी को सबसे बड़ा सियासी झटका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *