Arvind Kejriwal: ‘कोयले की कमी से स्थिति विकट’ दिल्ली के मुख्यमंत्री का केंद्र पर निशाना

देश में गहराते कोयला संकट के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री, Arvind Kejriwal ने आज फिर से केंद्र सरकार को निशाना बनाया. Kejriwal ने कहा, कि उन्होंने पावर प्लांट में कोयले की कमी को लेकर केंद्र सरकार को पत्र लिखा है. दो दिन पहले Arvind Kejriwal ने कहा था, कि “दिल्ली में कोयले की बहुत कम आपूर्ति हो रही है, जिस कारण थर्मल पावर प्लांट में एक दिन का कोयला ही शेष रह गया है. हमने केंद्र सरकार को पत्र लिखकर इस कोयला संकट के बारे में अवगत कराया है.”

वहीं Arvind Kejriwal ने आज दिल्ली में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा, कि “थर्मल पावर प्लांट में कोयले की कमी को लेकर स्थिति काफ़ी विकट होती जा रही है. कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने भी केंद्र सरकार को इस संकट को लेकर पत्र लिखे हैं. हम लोग स्थिति को सुधारने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं.”

वहीं केंद्रीय ऊर्जा मंत्री, R K Singh ने कहा था, कि देश में कोयले की कमी नहीं है. कोयला कंपनियों के पास पर्याप्त मात्रा में कोयला उपलब्ध है. R K Singh ने एक दिन पहले बयान जारी करते हुए कहा था कि, “इस तरह की खबरें निराधार हैं, ना तो कोयले का संकट है और ना आगे होगा. हमारे पास आज के दिन कोयले का चार दिन से ज़्यादा का भंडारण है. हमारें पास प्रतिदिन स्टॉक आता है. दिल्ली में जितनी बिजली की आवश्यकता है, उतनी बिजली आपूर्ति हो रही है.” 

साथ ही उन्होंने कहा कि, “बिजली उत्पादन कंपनियों ने लोगों को मैसेज भेज कर कहा है, कि कोयला कम मात्रा में है. ये सिर्फ एक भ्रामक मैसेज है. इससे आम जनता गुमराह हो रही है. बिजली उत्पादन कंपनियों को भी आगाह कर दिया गया है, कि इस तरह के मैसेज न भेजें, अन्यथा करवाई होगी.” 

एक तरफ केंद्रीय ऊर्जा मंत्री का कहना है, कि देश में कोयला पर्याप्त है और बिजली संकट की खबर गलत है. वहीं हकीकत कुछ और है, देश के कई राज्यों में दिन में कई घंटो तक बिजली कटौती की जा रही है. राजस्थान के 31 ज़िलों में प्रतिदिन, 7 से 8 घंटे तक बिजली कटौती हो रही है. राजस्थान के मुख्यमंत्री, Ashok Gehlot ने सार्वजनिक तौर पर कहा है, की “अधिकारी AC कम चलाएं और बिजली बचाएं, राज्य में कोयले की कमी चल रही है. वहीं उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा में भी दिन में बिजली कटौती की जा रही है.”

दरअसल, कोयला खदानों में पानी भर जाने के कारण, थर्मल पॉवर प्लांट में पर्याप्त कोयला नहीं पहुंच पा रहा है. जिस कारण कई राज्यों में  बिजली कटौती की जा रही है.

यह भी पढ़ें: Uttarakhand: भाजपा को झटका, चुनाव से पहले कांग्रेस के हुए Yashpal Arya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *