Varun Gandhi News: Maneka Gandhi और BJP के साथ को लेकर संशय कायम

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, जेपी नड्डा ने गुरुवार को पार्टी के लिए नए कार्यकारिणी की घोषणा की है. उनके द्वारा की गई इस घोषणा के मुताबिक, इस कार्यकारिणी में 80 सदस्यों को शामिल किया गया है. किसी भी राजनीतिक पार्टी की कार्यकारिणी उनके प्रमुख फैसलों को लेने का काम करती है. यह कार्यकारिणी उस पार्टी द्वारा लिए गए फैसलों को लागू करने का काम करने का एजेंडा भी तैयार करती है. भारतीय जनता पार्टी की कार्यकारिणी में प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी से लेकर लालकृष्ण आडवाणी तक सभी बड़े नेताओं के नाम शामिल हैं. लेकिन इस कार्यकारिणी में Varun Gandhi और Maneka Gandhi का नाम शामिल नहीं किया गया है. सूत्रों के हवाले से खबर है, कि इन दोनों नेताओं का नाम ना शामिल करने की वजह, Varun Gandhi द्वारा लखीमपुर खीरी हिंसा पर पार्टी के खिलाफ ट्वीट करना हो सकता है.

लखीमपुर खीरी में 3 अक्टूबर, 2021 को काफी हिंसा का माहौल देखने को मिला. किसान आंदोलन पर बैठे 8 किसानों की मृत्यु, उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री, केशव प्रसाद मौर्य का स्वागत करने के दौरान हुई. असल में जब यह किसान उप मुख्यमंत्री का स्वागत करने जा रहे थे, तो एक बेकाबू कार ने इन किसानों को कुचल दिया था. इसके बाद वहीं मौके पर ही इन किसानों की मृत्यु हो गई. खबर है, की यह कार उत्तर प्रदेश के केंद्रीय गृह राज्य मंत्री, अजय कुमार मिश्रा के सुपुत्र की थी.

एक नज़र Varun Gandhi के ट्विट पर

इस बीच, Varun Gandhi ने गुरुवार को फिर से लखीमपुर खीरी कांड का एक वीडियो पोस्ट किया. इसमें उन्होंने कहा कि किसानों के लिए जवाबदेही की मांग करते हुए प्रदर्शनकारियों की हत्या के ज़रिए चुप नहीं कराया जा सकता है.Varun Gandhi, उत्तर प्रदेश में पीलीभीत लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं, जो लखीमपुर खीरी से 150 किलोमीटर से भी कम दूरी पर है. 

Varun Gandhi ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट कर कहा, “इस वीडियो से यह बिल्कुल स्पष्ट है, कि प्रदर्शनकारियों को मार कर चुप करवाया नहीं जा सकता. इन मृतक किसानों की मौत की जवाबदारी सरकार को देनी होगी. इसकी वजह से अहंकार और क्रूरता का संदेश फैल रहा है. आंदोलन पर बैठे किसानो के दिमाग में ये बात आने से पहले न्याय हो जाना चाहिए.” 

Varun Gandhi द्वारा पोस्ट किए गए 37 सेकेंड के वीडियो में एक तेज़ रफ्तार महिंद्रा जीप, लोगों के ऊपर दौड़ती नज़र आ रही है. इसके साथ ही दो एसयूवी, एक काली और दूसरी सफेद, को भी जीप का पीछा करते देखा गया है. इस वीडियो में साफ तौर पर लोगों के चिल्लाने और रोने का शोर सुनाई दे रहा है. Varun Gandhi ने घटना में मारे गए किसानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा, कि पीड़ितों के परिवारों को 1 करोड़ रूपए का मुआवज़ा दिया जाए. Varun Gandhi ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर हिंसा की CBI जांच की मांग की थी.

लखीमपुर खीरी मामले में अरविंद केजरीवाल का ट्वीट

इतना ही नहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री और AAP प्रमुख, अरविंद केजरीवाल ने लखीमपुर खीरी मामले में प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी से न्याय की मांग की है. साथ ही यह भी कहा है, कि जल्द से जल्द पीड़ित परिवार को इंसाफ मिले.

अरविंद केजरीवाल ने इस मामले के सभी मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की है, जिसमें मुख्य रुप से केंद्रीय गृह राज्य मंत्री, अजय कुमार मिश्रा के सुपुत्र शामिल हैं. उनके द्वारा केंद्रीय गृह राज्य मंत्री, अजय कुमार मिश्रा को बर्खास्त करने की भी मांग उठाई है.

अरविंद केजरीवाल ने वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा, “पूरी सरकारी व्यवस्था किसानों को मारने वालों को बचाने में लगी है. इसलिए मैं प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी से पूछता हूं, कि अब तक इस मामले में किसी एक भी आरोपी की गिरफ्तारी क्यों नहीं हुई है. बेशक उत्तर प्रदेश पुलिस ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री, अजय मिश्रा के बेटे, आशीष के खिलाफ मामला दर्ज किया है. लेकिन अभी तक किसी की को भी इस मामले में गिरफ्तार कर सख्त कार्यवाही नहीं की गया है.”

BJP ने विपक्ष पर लगाया नकारत्मक व्यवहार का आरोप

यूपी सरकार के प्रवक्ता, सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा, कि संवेदनशील लखीमपुर खीरी में किसी को भी माहौल खराब करने की इजाज़त नहीं दी जाएगी. यह कहते हुए कि किसी को भी माहौल खराब करने की अनुमति नहीं दी जाएगी, उत्तर प्रदेश सरकार ने बुधवार को विपक्ष पर “संवेदनशील”  लखीमपुर खीरी घटना में “नकारात्मक” रवैया अपनाने का आरोप लगाया.

यह भी पढ़ें: Lakhimpur Kheri Violence: वायरल होती वीडियो की क्या है हक़ीक़त?⁩

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *