Global Hunger Index: पड़ोसी मुल्कों से भी पिछड़ा भारत : Hindustan Reads

Global Hunger Index: पड़ोसी मुल्कों से भी पिछड़ा भारत

116 देशों की Global Hunger Index सूची में भारत के लिए चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है. भूख और कुपोषण पर नज़र रखने वाली संस्था, Global Hunger Index की सूची में भारत, पिछले वर्ष के मुकाबले पिछड़ गया है. साल 2020 में भारत 94वें स्थान पर मौजूद था, वहीं अब पिछड़कर 101वें स्थान पर पहुंच गया है. हालांकि, गौर करने वाली बात ये है, कि 116 देशों की इस सूची में पड़ोसी देश पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश भी भारत से आगे हैं.

ये है पड़ोसी देशों की स्थिति

Global Hunger Index में भारत के पड़ोसी देशों की बात करें, तो नेपाल और बांग्लादेश 76वें स्थान पर हैं. वहीं, पाकिस्तान 91 स्थान पर और म्यांमार 71वें स्थान पर मौजूद हैं. हालांकि, रिपोर्ट में इन देशों में भी भूख की स्थिति को चिंताजनक बताया है. साथ ही कहा गया है, कि ये देश भारत की तुलना में नागरिकों के भूख मिटाने में अधिक सक्षम हैं. वहीं, इस सूची में चीन, ब्राजील और कुवैत समेत 18 देश शीर्ष स्थान पर मौजूद हैं.  

जानिए कैसे होती है Global Hunger Index की गणना

Global Hunger Index की सूची चार चीजों के आधार पर तैयार की जाती है. जिसमें चाइल्ड वेस्टिंग (ऊंचाई के हिसाब से कम वजन या अधिक पतलापन), चाइल्ड स्टंटिंग(उम्र के हिसाब से कम लंबाई), बाल मृत्यु दर और भूख की गणना शामिल है. 

रिपोर्ट के अनुसार, चाइल्ड वेस्टिंग के मामले में 1998 से 2002 के बीच, भारत की हिस्सेदारी 17.1 फ़ीसदी थी. वहीं, 2016 से 2020 में बढ़कर 17.3 फ़ीसदी हो गई है. जानकारी के मुताबिक़, रिपोर्ट में कहा गया है, कि सबसे अधिक चाइल्ड वेस्टिंग वाला देश भारत है, जहां कोरोना महामारी और इसके चलते लगाए गए प्रतिबंधों से लोग बरी तरह प्रभावित हुए हैं.  

आपको बता दें, कि यह रिपोर्ट जर्मनी के संगठन वेल्थ हंगर हिल्फ और आयरलैंड की सहायता संस्था कन्सर्न वर्ल्डवाइड द्वारा संयुक्त रूप से तैयार की गई है.

यह भी पढ़ें: HIV/AIDS Awareness Campaign: स्वास्थ्य मंत्रालय ने ‘अमृत महोत्सव’ के तहत शुरू किया दूसरा चरण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *