Jammu and Kashmir Attack: अब NIA ने संभाली कमान, करेगी घटनाओं की जांच

Jammu and Kashmir Attack: अब NIA ने संभाली कमान, करेगी घटनाओं की जांच

भारतीय की National Investigation Agency (NIA) को, Jammu and Kashmir में हुई नागरिकों की हत्या की ज़िम्मेदारी सौंपी गई है. आपको बता दें, कि सिर्फ इस महीने Jammu and Kashmir में, अब तक आतंकियों द्वारा 11 नागरिकों की हत्या की जा चुकी है. इस तरह की लगातार हो रही घटनाओं से, राज्य में ज़बरदस्त दहशत फैल गई है. मिली जानकारी के मुताबिक, NIA शुरू में Jammu and Kashmir पुलिस से सम्बंधित चार घटनाओं की जांच करेगी.

इस बीच ख़बर ये भी आई थी, कि बिहार और उत्तर प्रदेश के दो लोगों को शनिवार शाम को आतंकवादियों ने गोली मार दी है. बात सिर्फ इस महीने की करें, तो अब तक लगभग 11 नागरिकों की आतंकियों की गोली लगने से मौत हो चुकी है. वहीं चर्चा का विषय यह भी है, कि पिछले कुछ दिनो में मारे गए सभी 11 नागरिकों में से, पांच व्यक्ति अन्य राज्यों से सम्बंधित थे. मिली जानकारी के मुताबिक, मृतकों में कश्मीरी पंडित बिरादरी के एक प्रमुख सदस्य भी शामिल है. वहीं इस सूची में एक दवा कम्पनी के मालिक माखन लाल बिंदू , एक टैक्सी ड्राइवर मोहम्मद शफी लोन, शिक्षक दीपक चंद, सुपिंदर कौर और वीरेंद्र पासवान के नाम शामिल है. बताया जा रहा है, कि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में रविवार को आतंकवादियों ने, दो गैर-स्थानीय मज़दूरों की भी गोली मारकर हत्या कर दी थी. जिसके बाद पुलिस को निर्देश दिया गया, कि घाटी के सभी गैर-स्थानीय मजदूरों को सुरक्षा के लिहाज़ से, तत्काल रूप से निकटतम सुरक्षा शिविरों में ले जाया जाए. 

Jammu and Kashmir में नागरिकों की हो रही इन हत्याओं के बीच, राज्य के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने रविवार को, आतंकवादियों और उनके हमदर्दों का शिकार करके , मृत व्यक्तियों के खून की एक-एक बूंद का बदला लेने की कसम खाई थी. उपराज्यपाल ने कहा है, कि “Jammu and Kashmir की शांति और सामाजिक-आर्थिक प्रगति को रोकने के लिए कोशिशें की जा रही है. ऐसा करके आतंकी, लोगों के व्यक्तिगत विकास को बाधित करने का प्रयास कर रहे हैं और केंद्र शासित प्रदेश के तेजी से विकास में अड़चन डाल रहे हैं”.

आपको बता दें, कि मनोज सिन्हा ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘आवाम की आवाज़ में भी कहा है, कि “मैं शहीद नागरिकों को भावभीनी श्रद्धांजलि देता हूं और शोक संतृप्त परिवारों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं. हम आतंकवादियों, उनके हमदर्दों का पता लगाएंगे और निर्दोष नागरिकों के खून की हर बूंद का बदला लेंगे”. आपको जानकारी के लिए बता दें, कि इस बीच केंद्र शासित प्रदेश, Jammu and Kashmir में सुरक्षा बलों ने पिछले कुछ दिनों में कई आतंकवाद विरोधी अभियान चलाए है. साथ ही, हो रही नागरिक हत्याओं के बाद सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच अबतक कुल नौ मुठभेड़ भी हुई है, जिनमें 13 आतंकवादी मारे गए.


यह भी पढ़ें: Jammu and Kashmir: दुबई सरकार का मिलेगा साथ, राज्य को आत्मनिर्भर बनाएगी सरकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *