Kanhaiya Kumar: CPI का साथ छोड़कर थामा कांग्रेस का हाथ

भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी (CPI) के नेता और जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष Kanhaiya Kumar आज 28 सितंबर को कांग्रेस का हाथ थामेंगे. Kanhaiya के साथ गुजरात के निर्दलीय विधायक Jignesh Mewani भी आज कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण करेंगे. सूत्रों के मुताबिक, Kanhaiya और Jignesh दोनों युवा नेताओं को 3 बजे के करीब कांग्रेस सांसद Rahul Gandhi, पार्टी की सदस्यता दिलाएंगे. 

हालांकि, यह साफ तौर पर ज़ाहिर नहीं हो सका है कि Kanhaiya Kumar, भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी का दामन छोड़कर कांग्रेस का हाथ क्यों थाम रहे हैं. मगर ऐसा बताया जा रहा है की Kanhaiya को लेकर CPI के वरिष्ठ नेताओं के बीच मतभेद पैदा हो गए थे. कुछ लोग Kanhaiya Kumar का राष्ट्रीय स्तर पर प्रमोशन चाहते थे, तो वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता इस बात से घबरा रहे थे की Kanhaiya के प्रमोशन होने से पार्टी में उनकी साख कम हो जाएगी. जिसके कारण उन्होंने पार्टी त्यागने का फैसला लिया.

Kanhaiya Kumar के पार्टी छोड़ने पर CPI के कई नेताओं ने अपनी नाराज़गी जताई. CPI के एक नेता ने कहा है कि, उन्होंने अपनी विचारधारा के साथ समझौता कर लिया है और CPI के बाहर अवसरवादी रास्ता तलाश रहे हैं. हालांकि, सीपीआई प्रमुख ने उनके इस फैसले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. 

Kanhaiya Kumar के कांग्रेस में आने से पार्टी को हो सकता है फायदा 

Kanhaiya Kumar के कांग्रेस में शामिल होने से पार्टी को फायदा पहुंच सकता है. दरअसल, बिहार में कांग्रेस के पास कोई बड़ा चेहरा नहीं है और Kanhaiya ने भाषणों से युवाओं के बीच में काफ़ी अच्छी पकड़ बना ली है. ऐसे में कांग्रेस पार्टी Kanhaiya Kumar को मज़बूत चेहरे के रूप में बिहार में उतार सकती है. हालांकि, यह अभी तय नहीं हुआ है की Kanhaiya को क्या ज़िम्मेदारी दी जाएगी. सूत्रों के मुताबिक, फ़िलहाल उन्हें बिहार पर ध्यान केंद्रित करने को कहा जा सकता है. आपको बता दें की, सितंबर माह की शुरुआत में Kanhaiya Kumar, Rahul Gandhi से मिले थे.

यह भी पढ़ें: Narendra Modi US Visit: विरोध प्रदर्शन की तस्वीरें हुई वायरल, क्या है सच्चाई?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *