Nawab Malik: मंत्री ने NCB पर लगाए बीजेपी से साठगांठ के आरोप

महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक मंत्री, Nawab Malik ने आज अपने दामाद समीर खान की रिहाई के बाद Narcotics Control Bureau (NCB) पर गंभीर आरोप लगाए है. उन्होंने कहा है, कि उनके दामाद समीर खान को बीजेपी के कहने पर ड्रग्स मामले में फंसाया गया है. आपको बता दें, कि Nawab Malik ने आज गुरुवार 14 अक्टूबर 2021 को प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से ये सारी बातें कहीं है. गौरतलब है, कि NCB ने 13 जनवरी 2021 को समीर खान को गिरफ्तार किया था, जहां उनके पास कथित रूप से मादक पदार्थ मिलने का आरोप था.  

जानिए क्या कहा Nawab Malik ने 

Nawab Malik ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करके, NCB पर बीजेपी के साथ साठगांठ का आरोप लगाया है. साथ ही Nawab का कहना है, कि “समीर खान को बीजेपी के इशारें पर ड्रग्स मामले में फंसाया गया है. NCB को उनके पास कोई प्रतिबंधित नशीला पदार्थ नहीं मिला था. 9 जनवरी को भी समीर की पहचान के साहिस्ता फर्नीचरवाला के पास से, केवल साढ़े सात ग्राम हर्बल तंबाकू जब्त किया गया था. फॉरेंसिक जांच में इसकी पुष्टि भी हुई है, जबकि NCB ने 200 किलोग्राम गांजा जब्त करने का दावा किया था”.

साथ ही उन्होंने यह भी कहा है, कि “मुझे राजनीतिक तौर पर निशाना बनाया जा रहा है. वहीं सबसे बड़ा सवाल ये भी है, कि इतनी बड़ी जांच एजेंसी कैसे तम्बाकू और गांजे में फर्क नहीं कर पाई”. 

NCB ने किया उच्च न्यायालय का रुख

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि Nawab Malik की प्रेस कॉन्फ्रेंस से कुछ देर पहले ही, मुंबई की एक विशेष अदालत ने समीर खान को ज़मानत दी थी. इस पर NCB का कहना था, कि समीर के पास भारी मात्रा में मादक पदार्थ है, लेकिन अदालत में एजेंसी उनके खिलाफ़ पुख़्ता सबूत पेश नहीं कर पाई है. हालांकि, NCB ने समीर की ज़मानत रद्द करवाने के लिए उच्च न्यायालय का रुख ज़रूर किया है. मिली जानकारी के मुताबिक़, NCB की ओर से समीर की ज़मानत के खिलाफ़ अदालत में आरोप पत्र दाखिल किए गए थे और इसमें फॉरेंसिक रिपोर्ट्स का हवाला दिया गया था. हालांकि 18 में से 11 नमूनों में गांजा ना होने की पुष्टि के कारण, समीर को जमानत पर रिहा कर दिया गया है. 


यह भी पढ़ें: Aryan Khan Drugs Case: गहराते मामले के बीच एनसीपी नेता ने किया चौंकाने वाला खुलासा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *