Rajasthan News: Rahul Gandhi से मिले Sachin Pilot, दिए मंत्रिमंडल में बदलाव के संकेत

पंजाब के बाद अब Rajasthan में कांग्रेस की कैबिनेट में बदलाव को लेकर संकेत मिल रहे हैं. दरअसल, Rajasthan के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष Sachin Pilot ने शुक्रवार को Rahul Gandhi से दिल्ली में मुलाकात की. राज्य में मचे सियासी घमासान के बीच हुई इस मुलाकात की सियासी गलियोरों में अब चर्चा तेज़ हो गई है. Pilot की पिछले सात दिनों में Rahul Gandhi से यह दूसरी मुलाकात है. इससे पहले 17 सितंबर को भी दोनों के बीच काफ़ी लंबी बातचीत हुई थी. 

सूत्रों के मुताबिक, इस मुलाकात में Sachin Pilot ने Rahul Gandhi से Rajasthan में सत्ता और संगठन में होने वाले बदलावों को लेकर अपनी मांगे और सुझाव रखे हैं. Pilot ने Rajasthan में होने वाले चुनावों में हार के चलन को रोकने के लिए, अभी से रणनीति बनाने की सलाह दी. Pilot के मुताबिक, पार्टी को फिसड्डी मंत्रियों और शिकायत वाले नेताओं को हटाकर साफ छवि वाले लोगों को आगे लाना चाहिए. 

Sachin Pilot काफ़ी समय से Priyanka Gandhi के भी संपर्क में थे. शुक्रवार को उन्होंने Rahul के साथ Priyanka से भी मुलाकात की थी. सूत्रों की माने, तो काफ़ी लंबे समय से खाली पड़े संगठन में Pilot को बड़ी ज़िम्मेदारी दी जा सकती है.

जल्द हो सकता है Rajasthan मंत्रिमंडल में बदलाव

पंजाब में सियासी फेरबदल के बाद, अब Rajasthan में भी मंत्रिमंडल और कार्यकारिणी विस्तार की सुगबुगाहट तेज़ हो गई है. पिछले साल मचे विवाद की सुलह के बाद Pilot खेमा उस वक्त तय हुए मुद्दों की मांग कर रहा है. 

गौरतलब है कि, पिछले वर्ष मुख्यमंत्री Ashok Gehlot और Sachin Pilot के बीच काफ़ी तनातनी देखने को मिली थी. Pilot ने काफ़ी दिनो तक कुछ विधायकों के साथ Rajasthan से संपर्क तोड़ दिया था. जिसके बाद Sachin Pilot और उनका साथ देने वाले मंत्रियों को मंत्री पद से हटा दिया गया था और राजस्थान कार्यकारिणी भंग कर दी गई थी. हालांकि, कुछ समय बाद दोनों के बीच सुलह हो गई थी, लेकिन Rajasthan कांग्रेस कार्यकारिणी का अभी तक विस्तार नहीं हो पाया है. जिसको लेकर Pilot खेमा लगातार अपनी मांगों की आवाज़ बुलंद कर रहा है. 

Rajasthan के कांग्रेस प्रभारी Ajay Makan ने कई बार संगठन विस्तार को लेकर जानकारी दी है, लेकिन हर बार किसी ना किसी वजह से इस टाल दिया गया. Rahul Gandhi और Pilot की मुलाकात, Pilot खेमे के लिए काफ़ी अहम मानी जा रही है और उम्मीद की जा रही है की, इसके बाद सत्ता संगठन में बदलाव हो सकते हैं. 

यह भी पढ़ें: Charanjit Singh channi: नए मुख्यमंत्री ने पहले ही दिन लिए कुछ धाकड़ फैसले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *