Sadhvi Pragya Malegaon Case: NIA के समक्ष पेश हुईं भाजपा सांसद

Sadhvi Pragya Malegaon Case: NIA के समक्ष पेश हुईं भाजपा सांसद

Bharatiya Janata Party की सांसद, Sadhvi Pragya Singh Thakur फ़िलहाल चर्चा में हैं. वह वर्ष 2008 में मालेगांव में हुए विस्फोट मामले में, बुधवार को मुंबई की एक विशेष National Investigation Agency (NIA) अदालत में पेश हुई हैं. इसके साथ ही, वह इस मामले में मुख्य आरोपी भी हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि ये मामला 29 सितंबर 2008 का है. इस दिन मालेगांव में एक मस्जिद के पास मोटरसाइकिल पर बंधा एक विस्फोटक उपकरण फट जाने से, 6 लोगों की मौत हो गई थी. वहीं इस घटना में 100 से अधिक अन्य लोग भी घायल हो गए थे. 

गौरतलब है, कि इस मामले में अदालत ने अक्टूबर 2018 में लेफ्टिनेंट कर्नल, Prasad Purohit, Sadhvi Pragya और पांच अन्य लोगों के खिलाफ़ सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए थे. वहीं इन सब आरोपियों पर गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की अलग-अलग धाराओं के तहत आरोप लगाए गए थे.

Sadhvi Pragya पर लगे आरोपों में गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम की धारा 16 के तहत, आतंकवादी कृत्य करना, धारा 18 के तहत आतंकवादी कृत्य करने की साजिश और धारा 120 (B) के तहत, आपराधिक साजिश रचना शामिल हैं. इतना ही नहीं, उन पर धारा 302  के तहत हत्या, धारा 307 के तहत हत्या का प्रयास करना और धारा 324 के तहत, स्वेच्छा से चोट पहुंचाना शामिल हैं. इसके अलावा, Sadhvi Pragya पर भारतीय दंड संहिता के 153 (A) के अंतर्गत, दो धार्मिक समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देने का आरोप भी लगाया गया है.

NIA ने Covid-19 महामारी के बाद, इस मामले को लगभग 9 महीनों बाद दोबारा उठाया है. वहीं Bharatiya Janata Party की यह सदस्य, अक्सर धार्मिक मुद्दों को लेकर भी चर्चा में रहती हैं. कुछ दिन पहले भी Sadhvi Pragya ने, मस्जिदों में होने वाली सुबह की आजान को लेकर काफ़ी विवादित बयान दिया था. जिसपर देश में धार्मिक राजनिति काफ़ी गर्मा गई थी. उन्होने कहा था, कि “मस्जिदों में होने वाली आजान से लोगों की नींद खराब होती है”.


यह भी पढ़ें: Rakesh Tikait News: नई मांगों के साथ इस दिन निकलेगी ट्रैक्टर रैली, संसद घेरने की तैयारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *