Kishore Kumar Death Anniversary: हमेशा सदाबहार है इनकी आवाज़, शायद ही सुने होंगे ये मज़ेदार किस्से

बाॅलीवुड के मशहूर गायक, Kishore Kumar एक ऐसा नाम है, जिसके गाये गीत सदाबहार हैं. किशोर दा बाॅलीवुड के एक शानदार अभिनेता, लाजवाब गायक, निर्देशक, निर्माता, संगीत निर्देशक और सबसे बढ़कर एक बेहद ही अद्भुत व्यक्ति थे. Kishore Kumar ने इस फिल्म इंडस्ट्री को अपनी आवाज़ में कई बेहतरीन गाने दिए, जो आज भी लोगों के दिलों में बसते हैं. आपको बता दें, कि आज Kishore Kumar के भाई, Ashok Kumar का जन्मदिन भी है.

Kishore Kumar का निधन आज ही के दिन 13 अक्टूबर, 1987 को हुआ था. अपने एक साक्षातकार में किशोर दा के बड़े भाई, Ashok Kumar ने बताया, कि “बचपन में किशोरी की आवाज़ फटी हुई थी. एक बार उसका पैर सब्ज़ी काटने वाले चाकू से कट गया था. जब डॉक्टरों ने उसकी उंगली का इलाज किया, तब किशोरी को काफी तकलीफ हुई. दर्द के कारण वह कई दिनों तक ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाता रहता था. इस घटना से किशोरी इतने प्रभावित हुए, कि उनकी आवाज़ ही बदल गई. किशोरी की शानदार आवाज़ उसी हादसे का नतीजा थी.” 

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री, Shivraj Singh Chouhan ने Kishore Kumar की 34वीं पुण्यतिथि पर ट्वीट करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी. उन्होंने लिखा, “अपनी अनूठी आवाज़ और विशिष्ट अभिनय शैली से लोगों के हृदय में उन्होंने अपनी एक अलग जगह बनाई है. खण्डवा के लाल, मध्य प्रदेश के रत्न, महान गायक व अभिनेता, स्व. किशोर कुमार जी की पुण्यतिथि पर उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि!” आपको बता दें, कि किशोर कुमार मध्य प्रदेश के ही रहने वाले थे.

किशोर दा कि सुनहरी आवाज़ ने लोगों को प्यार में पड़ने पर मज़बूर कर देती थी. पेशे से एक गायक, Kishore Kumar ने Amitabh Bachchan, Rajesh Khanna, Dev Anand, Dharmendra, Jeetendra, Shashi Kapoor, Randhir Kapoor, Dilip Kumar जैसे कई अन्य सुपरस्टार्स को अपनी आवाज़ दी.

Kishore Kumar के जीवन और करियर के बारे में 5 मजे़दार बातें

1. Kishore Kumar का गाना, ‘5 रुपए 12 आना’ उनके जीवन की एक सच्ची घटना पर आधारित है.  एक खबर के अनुसार, किशोर दा अपने 10वीं बोर्ड के बाद, इंदौर के क्रिश्चियन कॉलेज गए थे. माना जाता है, कि उस कॉलेज की कैंटीन में उनके 5 रुपये 12 पैसे बकाया हैं. 

2. उदासी से घिरे माने जाने वाले किशोर दा की चार बार शादी हुई थी. उनकी पत्नियां के नाम रूमा गुहा, मधुबाला, योगिता बाली और लीना चंदावरकर थे. 

3. कथित तौर पर Kishore Kumar एक शर्मीले व्यक्ति थे. जब भी उन्हें किसी संगीत कार्यक्रम में प्रदर्शन करने के लिए आमंत्रित किया जाता था, तो वह वहां से भाग जाते थे. 

4. Kishore Kumar के लिविंग रूम में लाल बत्ती वाली खोपड़ी और हड्डियां थी. उन्हें ठहाके लगाने और मीडिया में इंटरव्यू देने से नफरत थी. 

5. किशोर दा की उनकी अनूठी शैली ‘योडेलिंग’, जिमी रॉजर्स और टेक्स मॉर्टन से प्रेरित थी. उनकी योडेलिंग, उन्हें 8 फिल्मफेयर पुरस्कार दिला चुकी है. 

यह भी पढ़ें: Kishore Kumar: महान गायक की बायोपिक बनाएंगे Amit Kumar, “कहा हमेशा से इरादा रहा इसे बनाने का”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *